Dhara 411 Kya Hai

5.0

Frosting Jewelry Manufacturer , Gemstone Tools Manufacturer, Vedic Stone Manufacturer, 916 Rajkot Plain Items Manufacturer, AD Casting Nose Pin Manufacturer, Ahamdabadi Payal Manufacturer, ...

Share :

Description

जानिए क्या है धारा 411 
किसी की चुराई हुई सम्पति को बेईमानी से हासिल करना 
जो भी कोई किसी चुराई हुई संपत्ति को विश्‍वास पूर्वक जानते हुए कि वह चोरी की संपत्ति है, बेईमानी से प्राप्त करता या बरकरार रखता है, तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास जिसे तीन वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या आर्थिक दंड, या दोनों से दंडित किया जाएगा।
अब इसे सीधी भाषा मे समझते है : आप एक जेवेलर है और कोई चोर आपकी दुकान पर चोरी की गई ज्वेलरी बेचने आता है । और आप ये जानते है कि जो ज्वेलरी आप अमुक आदमी से खरीद रहे है वो चोरी की है । फिर भी आप उस ज्वेलरी को खरीद रहे है । तो ये अपराध धारा 411 के अंर्तगत माना जायेगा । 
जिसके लिए आपको तीन वर्ष कारावास या आर्थिक दंड या दोनों भी हो सकते है । यहाँ ये बात भी जान लेना बहुत जरूरी है कि यह एक गैर-जमानती, संज्ञेय अपराध है और किसी भी मजिस्ट्रेट द्वारा विचारणीय है।
लेकिन इस अपराध में अगर पीड़ित व्यक्ति (जिसकी संपत्ति चोरी हुई है) ओर आप के बीच अगर समझौता हो जाता है तो भी आप बच सकते है । 
जेवर खरीदते समय क्या करे : जब भी आप अपनी दुकान पर किसी ग्राहक से पुरानी ज्वेलरी खरीद रहे है तो निम्न बातों का ध्यान रखे ।
1. कभी भी किसी भी अनजान व्यक्ति से जेवर ना खरीदे ।
2. जब भी किसी जानकार या गैर जानकर ग्राहक से जेवर खरीदे कम से कम तीन गवाह की मौजूदगी में ही खरीदे । 
3. जो जेवर आप खरीद रहे है । उसकी पेमेंट चेक से करे ।
4. जेवर खरीदते समय उस ग्राहक से एक एफिडेविट जरूर साइन करा लें । 
5. ग्राहक , ओर गवाहो के आधार कार्ड या कोई पहचान पत्र की कॉपी उस एफिडेविट के साथ लगाकर रखे । ताकि भविष्य में काम आ सके । 


Photo Gallery

Dhara 411 Kya Hai -

Write Your Reviews

Writing great reviews may help others discover the places that are just apt for them. Here are a few tips to write a good review:

copyrights © 2018 Myshubratan   All rights reserved.